अगर खुदा भी हमसे पूछे की तुमको क्या चाहिए,
हम तो बिना सोचे सिर्फ़ आपका नाम कह जाए.
भगवान भी कहें कोई खुशी ही माँग लो,
कोई क्या जाने की हर खुशी ही आप हो.

लोग खुदा से अपने लिए खुशियाँ माँगते,
हम तो आप में सारे जहाँ की खुशियाँ ढूँढते.
ये अँखियाँ तो आपके दीदार को तरसती,
ये रूह तो आपसे मिलने को तड़पती.

हमारी हर मुस्कान का राज़ सिर्फ़ है आपसे,
दुनिया के लिए आप हो एक इंसान भले.
हमारे लिए तो पूरी दुनिया हो आप मेरी जान,
आपसे ही होती है हमारी पहचान.

आपके बिना तो हमारा नाम भी अधूरा सा लगता,
ये दिल सिर्फ़ और सिर्फ़ आपके लिए धड़कता.
ना जाने कब आएगा वो दिन जब आप आओगे,
और हमें हमेशा के लिए ले जाओगे.

read more poetry